पत्रकार (Journalist) कैसे बने? कोंन पत्रकार बन सकता है?

Journalist kaise bane
Patrakar (Journalist) kaise bane?

नमस्कार दोस्तों  इस पोस्ट में हम बात करने वाले है पत्रकार ( Journalist ) kaise bane?, कोंन पत्रकार बन सकता है? और पत्रकार बनाने के लिए कोंनसे कोर्स करने होते है? जैसे सवालो का समाधान करने वाले है. दोस्तों इस पोस्ट में हम पत्रकार बनने के लिए क्या करे और किस तरह करे और  पत्रकार बनने के लिए  भारत में कितना स्कोप है जैसी जरुरी इनफार्मेशन के बारे में जानकारी देने वाले है. तो दोस्तों आप का समय ज्यादा विलंबित न करते हुए हमारी पत्रकार ( Journalist ) kaise bane? की जरुरी जानकारी को शुरू करते है.

दोस्तों Patrakar kaise bane की जानकारी शुरू करने से पहले हमारे पास  पत्रकारिता (Journalism) के बारे में बेजिक नोलेज होना जरुरी है. तो पहले हम पत्रकारिता (Journalism) के  बारे में थोड़ी बहोत बेजिक जानकारी जानते है,

दोस्तों पत्रकार और पत्रकारिता इन दोनों शब्दों में ज्यदा अंतर क्या है यह हमे समजना चाहिए क्योकि इन दोनों शब्दों का अर्थ काफी अलग होता है. किसी भी घटना या नई खबरों को लोगो तक पहुचाने वाले को पत्रकार कहते है और जो पत्रकार हम तक खबरे पहुचाने के लिए जो भी कार्य करता है उसे पत्रकारिता कहते है.

जरुर पढ़े: फ़ूड का बिज़नस कैसे शुरू करे?

पत्रकार के कितने प्रकार? (Tipes of Journalist)

अधिक जानकारी के लिए बात  करे तो पत्रकार (Journalist) आम तौर पर 3 प्रकार के  होते है जो निचे सूचिबद्ध किये गए है,

  • अंश कालिक पत्रकार: यह प्रकार के पत्रकार आम तौर पर अंश समय (पार्ट-टाइम) के लिए पत्रकारिता करते है. जो पत्रकार (Journalist) कुछ निश्चित किये गए समय तक पत्रकारिता (Journalism) करते है उसे अंश कालिक पत्रकार कहते है.
  • पूर्ण कालिक पत्रकार: यह पत्रकार (Journalist) को एक निश्चित कार्यकाल के लिए नियुक्त किया जाता है, जिसमे वह अपने कार्यो को संपूर्ण करता है और 7(सात) वर्ष होने के बाद उसको रिटायर कर दिया जाता है.
  • स्वतंत्र पत्रकार: दोस्तों स्वतंत्र पत्रकार के पास सबसे ज्यादा काम करने के लिए स्वतंत्रता होती है, स्वतंत्र पत्रकार किसी के कहने के आधीन नहीं परंतु वे अपने रचनात्मक विचारों और कार्यो जैसे पत्र-पत्रिकाओ या फिर ऑनलाइन के जरिये पाठको के बिच अपनी पहचान (Identity) बनाते है. इस लिए यह प्रकार की पत्रकारिता (Journalism) करना हर किसीका सपना भी होता है.

जैसे की  हमने जाना की  पत्रकार कितने प्रकार के होते है, इसकी मदद से आप अपने लिए तय कर पाएंगे की आप इनमे से कोनसे प्रकार के पत्रकार बनना चाहते है. अब जब की आपने तय कर लिया है की आप उपरुक्त दिए गए  प्रकार में से किसी एक तरह के पत्रकार (Journalist) बनना चाहते है तब आपको यह भी जानना  चाहिए की फ़िलहाल पत्रकारिता में करियर स्कोप क्या है,

पत्रकारिता में करियर स्कोप

मीडिया जगत में बढ़ते चलन के बिच पत्रकारिता (Journalism) में काफी ज्यादा स्कोप है. आज के समय में जैसे जैसे जनसँख्या बढती जा रही है वैसे लोगो के रहने का विस्तार भी ज्यादा होता जा रहा है. भारत में ही नहीं परंतु पुरे विश्व जगत में पहले के मुकाबले टेक्नोलॉजी में भी काफी सुधार आया है और सभी तरह के विषयो पर जैसे की फैशन, पॉलिटिक्स, फिल्म, एजुकेशन, अपराध, बिज़नस, ऑनलाइन जगत जैसे क्षेत्रो में काफी बदलाव देखने को मिला है.

साथ ही जैसे टेक्नोलॉजी और सुविधाए सभी क्षेत्र में बढती जा रही है, वैसे ही मीडिया जगत के लिए भी  काफी जायदा स्कोप उभरकर सामने आया है. इस लिए दोस्तों आज कल पत्रकारिता (Journalism) में करियर स्कोप काफी ज्यादा है. पहले के मुकाबले आज के समय में टेक्नोलॉजी में भी काफी सुधार आया है जिसकी वजह से स्वतंत्र पत्र-पत्रकारों की मांग में काफी चढाव  आया है. वर्तमान समय में अगर आप पत्रकार बनकर पत्रकारिता (Journalism) करना चाहते है तो आपके लिए बहोत ही अच्छा अवसर साबित हो सकता है.

जरुर पढ़े: मुर्गी पालन व्यवसाय कैसे शुरू करे?

अब यहाँ पर मन में एक सवाल आता है की  पत्रकार बनने के लिए एजुकेशन कितना होना चाहिए?, दोस्तों पत्रकार (Journalist) बनने के लिए एजुकेशन में  आप किसी भी प्रवाह में 12 कक्षा पास  होने चाहिए और कमसे कम 50% के साथ पास होने चाहिए.

अब दोस्तों यहाँ पर  Patrakar kaise bane में जाना की पत्रकार (Journalist) के प्रकार कितने है, करियर स्कोप कितना है और एजुकेशन कितना चाहिए की जानकारी हासिल की. अब बारी आती है की 12 पास एजुकेशन के  बाद पत्रकार बनने के लिए कोनसे कोर्स करना होगा और कोर्स करने के लिए कितनी फी हो सकती है. लेकिन दोस्तों अगर मेरी माने तो हमे पहले यह जानलेना ज्यादा जरुरी है की  क्या आपके अंदर वे स्किल है जो एक पत्रकार के अंदर होनी चाहिए? इसके लिए हमने निचे पत्रकार बनने के लिए आपके अंदर किन गुणों की आवश्यकता है उसकी सूचि हमने निचे दी है.

पत्रकार के लिए आवश्यक गुण

दोस्तों यहाँ पर हमने एक पत्रकार के अंदर जो अवशयक गुण की लिस्ट दी है. यदि आप पत्रकार (Journalist) बनना चाहते है तो  आप यह सूचि को देखे और अपने आपको पूछिये की क्या आपके अंदर वह गुण है  जो  एक पत्रकार के अंदर होने बहोत ही आवश्यक है?

  • जिज्ञासु बने: पत्रकार बनने के लिए आपके अंदर जिज्ञासु परवर्ती होना बहोत ही ज्यादा आश्यक है, क्योकि जब भी आपके आस पास कोई घटना या अस्चार्यजनक प्रवुर्ती होती है तो आपके मनन में कोई सवाल आने चाहिए. जैसे की  यह घटना कैसे हुई होगी?, क्या यह आइसे हो सकता था?, क्या इसको वैसे होना चाहिए? जैसे  कई प्रकार के प्रश्न आपके मन में आने चाहिए. तभी आप अछि पत्रकारिता (Journalism) कर पायेंगे.
  • इमानदार एवं साहसी होना जरुरी है.
  • किसी भी परिस्थिति में काम करने की क्षमता होनी चाहिए.
  • भाषा पर अछि पकड़ होना जरुरी होता है. (लोकल भाषा पर भी पकड़ बनाए)
  • निडर (आप किसी के भी दबाव में न आये ) किसी के डर की वजह से सत्य को छुपाए नहीं.
  • समबद्ध रहना काफी जरुरी है.
  • न्यूज़ को परखने की क्षमता होनी चाहिए.
  • वर्तमान में चल रहे मुद्दे की  जानकारी रखना.
  • न्यूज़ समजने की क्षमता

तो यह थी एक पत्रकार (Journalist) के अंदर आवश्यक गुण जो जरुरी है. इसके बाद आपके अंदर स्किल्स जो होनी चाहिए उसकी सूचि भी हमने निचे सूचिबद्ध है,

  • अच्छा और तेजी से लिखना
  • न्यूज़ रिपोर्टिंग
  • न्यूज़ राइटिंग
  • न्यूज़ एडिटिंग
  • प्रमुख भाषाओ की टाइपिंग (हिंदी, अंग्रेजी)
  •  कंप्यूटर नॉलेज
  • फोटोग्राफी

तो दोस्तों अब तक हमने Patrakar kaise bane के बारे में ज्यदातर जानकारी मिल चुकी है अब पत्रकार बनाने के लिए जरुरी कोर्स क्या है?. दोस्तों निचे हमने पत्रकार (Journalist) बनने के लिए जरुरी कोर्स की जानकारी दी है,

पत्रकार (Journalist) बनने के लिए कोर्स

पत्रकार (Journalist) बनने के लिए जरुरी कोर्स की लिस्ट दी गयी है जो नुन्यतम एजुकेशन  12 पास करने के बाद किया जाता है. इन कोर्स को  करने के बाद पत्रकारिता (Journalism) करने के लिए पत्रकार की जॉब पाने के लिए सारे रास्ते खोल देती है. इन कोर्स को पूरा करने के बाद आप पत्रकारिता (Journalism) करने यौग्य बन सकते है. यह कोर्स चार प्रकार के कोर्स है जिनके बारे में डिटेल में जानकारी निचे सूचिबद्ध की गई है.

Diploma Courses: (डिप्लोमा कोर्स):

  • Diploma in Journalism & Mass Communication (डिप्लोमा इन जर्नलिज्म & मास कम्युनिकेशन)
  • Diploma in Journalism (डिप्लोमा इन जर्नलिज्म)
  • Diploma in Mass communication (डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन)
  • Diploma in Broadcast Journalism (डिप्लोमा इन ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म)
  • Diploma in Web Media/Online Media (डिप्लोमा इन वेब मीडिया/ऑनलाइन मीडिया)
  • Diploma in Electric Media (डिप्लोमा इन इलेक्ट्रिक मीडिया)
  • Diploma in Print Media (डिप्लोमा इन प्रिंट मीडिया)

PG Diploma Courses (पीजी डिप्लोमा कोर्स):

  • PG Diploma in Mass Communication & Journalism (पीजी डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन & जर्नलिज्म)
  • PG Diploma in Journalism (पीजी डिप्लोमा इन जर्नलिज्म)
  • PG Diploma in Mass Communication (पीजी डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन)
  • Advertising & Journalism (एडवरटाइजिंग & जर्नलिज्म)
  • PG Diploma in Broadcast Journalism (पीजी डिप्लोमा इन ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म)

Degree Courses: (डिग्री कोर्स)

  • BA Mass Communication & Journalism (बीए मास कम्युनिकेशन & जर्नलिज्म)
  • BA in Journalism (बीए इन जर्नलिज्म)
  • BA in Mass Communication (बीए इन मास कम्युनिकेशन)
  • BSC in Mass Communication (बीएससी इन मास कम्युनिकेशन)
  • Advertising and Journalism (एडवरटाइजिंग & जर्नलिज्म)
  • Bachelor in Journalism & Mass Communication (बैचलर इन जर्नलिज्म & मास कम्युनिकेशन)
  • Bachelor in Broadcast Journalism (बैचलर इन ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म)
  • BA Mass Media (बीए मास मीडिया)
  • BA in Convergent Journalism (कनवर्जेंट जर्नलिज्म)
  • BA in Script Writing (बीए इन स्क्रिप्ट राइटिंग)
  • Bachelor in Media Science (बैचलर इन मीडिया साइंस)

Master Degree Courses: (मास्टर डिग्री कोर्स)

  • Master in Mass Communication (मास्टर इन मास कम्युनिकेशन)
  • Master in Journalism & Mass Communication (मास्टर इन जर्नलिज्म & मास कम्युनिकेशन)
  • MA in Mass Communication (एमऐ इन मास कम्युनिकेशन)
  • MSC in Mass Communication (एमएससी इन मास कम्युनिकेशन)
  • MA in Entertainment, Media & Advertisement (एमऐ इन एंटरटेनमेंट,मीडिया एडवरटीजमेंट)
  • M.Sc in Television & Film Production (M.Sc इन टेलीविज़न & फिल्म प्रोडक्शन)

यह थे पत्रकार (Journalist) बनने के लिए जरुरी कोर्स जिनको आप अपनी स्किल को परख कर पसंद कर सकते है. जिन काम के लिए आप सबसे जयादा पैशनेट है आप वही काम पसंद करे. जैसे की आपको बोलना सही लगता है तो आप न्यूज़ एंकर बनने के लिए जरुरी कोर्स पसंद करके शुरू करे. इस तरह आप अपने पसंदीदा काम को देखकर ही कोर्स शुरू करे.

पत्रकारिता के लिकप्रिय सिलेबस

  • Fundamentals of Journalism (फंडामेंटल्स ऑफ़  जर्नलिज्म)
  • Editing Techniques (एडिटिंग टेक्निक्स)
  • Basic Audio-Visual Media (बेसिक ऑडियो / विसुअल मीडिया)
  • Media, Society & Development (मीडिया,सोसाइटी & डेवलपमेंट)
  • Internet & New Media (इन्टरनेट & न्यू मीडिया)
  • Media Laws & Indian Constitution (मीडिया लॉ & इंडियन कोंस्टीट्यूशन)
  • Radio Broadcasting (रेडियो ब्रोडकास्टिंग)
  • Magazine Journalism (मैगज़ीन जौर्नालिस्म)
  • Environment & Media (एनवायरनमेंट &मीडिया)
  • Media Management (मीडिया मैनेजमेंट)
  • TV Broadcasting (टीवी ब्रोडकास्टिंग)
  • Introduction to Mass Communication (इंट्रोडक्शन टू मास कम्युनिकेशन)
  • Media Criticism (मीडिया क्रिटिसिज्म)
  • Reporting Methods (रिपोर्टिंग मेथोड्स)
  • History of Journalism (हिस्ट्री ऑफ़ जर्नलिज्म)
  • Advertising & Public Relations (एडवरटाइजिंग & पब्लिक रिलेशन)

पत्रकारिता कोर्स  कहा करे:

यहाँ पर  हमने भारत के अंदर स्थित कुछ कॉलेज के नाम सूचिबद्ध कए है. इन कॉलेज में पत्रकारिता (Journalism) के लिए जरुरी कोर्स को शुरू कर सकते है.

  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन (दिल्लीभारतीय विद्याभवन, दिल्ली)
  • एशियन कॉलेज ऑफ़ जर्नलिज्म (चेन्नई)
  • सिम्बोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ मीडिया & मास कम्युनिकेशन (पुणे)
  • लेडी श्री राम कॉलेज (महिलाओ के लिए) नई दिल्ली
  • मणिपाल यूनिवर्सिटी (मणिपाल)
  • हैदराबाद यूनिवर्सिटी (हैदराबाद)
  • बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी (झांसी)
  • एमिटी यूनिवर्सिटी
  • गुरुनानक देव यूनिवर्सिटी (चंडीगढ़)
  • व्हिसलिंग वुड्स इंटरनेशनल (मुंबई)
  • एमजेपी रुहेलखंड यूनिवर्सिटी (बरेली)
  • जागरण इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन (दिल्ली)
  • एशियन एकेडमी ऑफ फ़िल्म एंड टेलीविजन (नोयडा)

तो यह थी  कुछ कॉलेज जहा पत्रकारिता (Journalism) के कोर्स होते है इसके अलावा कई कॉलेज है जहा पत्रकारिता के कोर्स  किये जाते है. भारत में स्थित पत्रकारिता (Journalism) कॉलेज की लिस्ट देखने के लिए यहाँ क्लिक करे : Journalism Collages in India

एडमिशन के लिए योग्यता:

अंडर ग्रेजुएशन: अंडर ग्रेजुएशन  कोर्स के ऐडमिशन के  लिए आप 12 (साइंस,कॉमर्कस या आर्क्षाट्स) में मिनिमम 50% से पास होने चाहिए . कुछ कॉलेज या यूनिवर्सिटी के लिए आपको कम्युनिकेशन स्किल , राइटिंग स्किल और इंग्लिश बोलने की स्किल होनी जरुरी होती है. कुछ कॉलेज में ऐडमिशन प्रवेश परीक्षा लेकर किये जाते है. अगर जरुरी है तो पर्सनल इंटरव्यू लेकर भी ऐडमिशन होता है.

पोस्ट ग्रेजुएट जौर्नालिस्म: आपके पास कोई भी मान्यता प्राप्त कॉलेज की 3/4/5 साल की मान्य डिग्री होनी चाहिए. जर्नलिज्म के एडमिशन लेने वाले सदस्य को पीजी जर्नलिज्म कॉलेज द्वारा तय किये गए नियमो के पालन करने योग्य होना जरुरी है. हो  सकता है की आपको कॉलेज में एंट्रंस एग्जाम देनी पड़े तो उसके लिए भी  आपको तैयार होना जरुरी है.

जर्नलिज्म एडमिशन प्रोसेस:

विविध प्रकार के जौर्नालिस्म कोर्स के लिए ऐडमिशन प्रोसेस अलग अलग रहती है. कही पर मेरिट आधारित प्रवेश होता है तो कही प्रवेश आधारित ऐडमिशन होता है. यह निर्भर करता है की आप कोनसी कॉलेज में ऐडमिशन के लिए अप्लाई करते है, क्योकि सभी कॉलेज में एडमिशन पोलिसी पर निर्भर करता है की जहा आप ऐडमिशन के लिए अप्लाई कर रहे है वह की ऐडमिशन पोलिसी क्या है.

मेरिट-बेस्ड एडमिशन: आपके  आखिर में किये गए या किये गए उच्च एजुकेशन की मान्य प्रमाणपत्र भी देना आवश्यक हो सकता है. मेरिट-बेस्ड एडमिशन में आपने पेश किये गए एजुकेशन में दिए गए अंको पर निर्भर करता है. अलग अलग कॉलेज में प्रवेश दिशानिर्देश के आधार पर आपको पर्सनल इंटरव्यू के लिए भी बुलाया जा सकता है. आपके दिए गए एजुकेशन के मान्य प्रमाणपत्र और आपके पर्सनल इंटरव्यू के आधार पर निर्भर करेगा की आपका एडमिशन होगा या नही.

एंट्रेंस-बेस्ड एडमिशन: यह प्रकार के एडमिशन में आपको पिछले किये गए एजुकेशन के मान्य प्रमाणपत्र और कॉलेजो में दिए गए एडमिशन के लिए कागजात देना होता है. उसके बाद कॉलेज आपके जरुरी कागजात देखकर आपको एडमिशन के लिए प्रवेश-परीक्षा के लिए बुला सकते है. आपको कॉलेज द्वारा बुलाये जाने पर तय की गई जगह पर आपको प्रवेश-परीक्षा देनी होगी.

प्रवेश-परीक्षा देने के बाद थोड़े दिनों में कॉलेज द्वारा घोषणा की जाएगी और दिए गये परीक्षा के मार्क्स कॉलेज में लिस्ट किये जायेंगे. उसके बाद प्राप्त किये गए गुण को देखकर चयन करके शोर्टलिस्ट किया जायेगा. उसके बाद कॉलेज की प्रवेश दिशा-निर्देश के आधार पर चयन किये गए कैंडिडेट को पर्सनल इंटरव्यू के लिए बुलाया जा सकता है. बाद में दिए गए परीक्षा और इंटरव्यू के आधार पर निश्चित किया जाता है की किसको एडमिशन मिलेगा.

नोकरी की सम्भावनाये

दोस्तों ऊपर दी गयी जानकारी के मुताबिक आप अगर पत्रकारिता में रूचि रखते है और आपमें एक पत्रकार बनने की योग्यता है, तब आप ऊपर दिए गए  कोर्स को पूरा करने के बाद आपके लिए पत्रकारिता में नोकरी की कई सम्भावनाये बन सकती है. वर्तमान समय में जैसे पत्रकारिता (Journalism) के क्षेत्र में काफी जायदा अवसर है. ऐसे में आप अगर पत्रकारिता से जुड़े कोर्स को पूरा करते है, तब आपके लिए निचे दिए गए ऑप्शन पर नौकरी की सम्भावनाये बन सकती है.

  • TV Channels (टीवी चैनल)
  • Newspapers (न्यूज़पेपर)
  • Radio Stations (रेडियो स्टेशन)
  • Media Houses (मीडिया हाउस)
  • PR and Media Management Agencies (मीडिया मैनेजमेंट एजेंसी)
  • Online Web Content Creation (ऑनलाइन वेब कंटेंट क्रिएशन)
  • Digital Firms (डिजिटल फिर्म्स)
  • Reporter (रिपोर्टर)
  • Web Content Creator ( वेब कंटेंट क्रेअटर)
  • Journalist (जौर्नालिस्ट)
  • Producer (प्रोडूसर)
  • Editor (एडिटर)
  • News Anchor  (न्यूज़ एंकर)
  • TV Correspondent (टीवी कोरेस्पोंडेंट)
  • Radio Jockey (रेडियो जॉकी RJ)
  • Critic (क्रिटिक)
  • Columnist  (कोलुमनिस्ट)
  • Feature Writer (फीचर राइटर)

जरुर पढ़े: दूध डेरी बिज़नस कैसे शुरू करे?

Leave a Comment

error: Content is protected !!